Home धोरीमन्ना-टाइम्स गुड़ामालानी विधानसभा चुनाव में होगी कांटे की टक्कर

गुड़ामालानी विधानसभा चुनाव में होगी कांटे की टक्कर

0
23

नरेश राव, धोरीमन्ना 

बाड़मेर टाइम्स नेटवर्क 

-भाजपा-कांग्रेस के लिए छोटी पार्टियों के प्रत्यासी बन रहे है सिर दर्द

धोरीमन्ना/गुड़ामालानी- प्रदेश में विधानसभा चुनाव कुछ ही महीनों बाद होने वाले है। हालांकि, अभी तक चुनावों का बिगुल नही बजा है लेकिन, दावेदारों ने अपनी-अपनी ताकते झोंकनी शुरू कर दी है। प्रदेश के विधानसभा क्षेत्र गुड़ामालानी में पिछली बार भले ही एक तरफा परिणाम देखने को मिला लेकिन, इस बार कांटे की टक्कर देखी जा सकती है।कांग्रेस पहले की तरह इस बार भी पूर्व राजस्व मंत्री हेमाराम चौधरी पर दांव खेलती नजर आ रही है लेकिन, चौधरी इस समय गुड़ामालानी व बायतु दोनों क्षेत्रों में सक्रिय नजर आ रहे है। वही बीजेपी वर्तमान विधायक व ससदीय सचिव लादूराम विशनोई को इस बार विश्राम देकर उनके पुत्र व प्रदेश भाजपा मंत्री के.के. विश्नोई पर दांव आजमाने की बात सामने आ रही है। इस बार कांग्रेस के लिए इस सीट को आसान माना जा रहा था लेकिन, युवा के.के. विश्नोई को भाजपा ने चुनाव मैदान में उतारने के विचार के साथ ही मुकाबला कांटे की टक्कर का बना दिया है। बताया जा रहा है कि गुड़ामालानी से के.के.विशनोई को भाजपा प्रत्याशी के रूप में पूर्व भाजपा अध्यक्ष अशोक परनामी के समय ही हरी झंडी मिल गई थी। वही के.के. विश्नोई भी मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के करीबी माने जाते है और वर्तमान में प्रदेश संगठन मंत्री है।

इसी प्रकार पूर्व राजस्व मंत्री हेमाराम चौधरी भी अशोक गहलोत के करीबी माने जाते है। बाड़मेर की सभी विधानसभा व लोकसभा टिकट हेमाराम चौधरी के इशारे पर ही मिलती है। राजनीति गलियारों के आधार पर माना जाए तो इस बार भाजपा कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर का मुकाबला देखा जा सकता है।

हेमाराम को टिकट मिलती है तो ताजाराम को कांग्रेस कहाँ शिफ्ट करेगी- गुड़ामालानी से पूर्व राजस्व मंत्री हेमाराम चौधरी की टिकट लगभग तय माना जा रहा है लेकिन, वर्तमान धोरीमन्ना प्रधान ताजाराम चौधरी भी टिकट के प्रबल दावेदार है। पिछले पांच साल से गुड़ामालानी विधानसभा क्षेत्र में सक्रिय है। लेकिन, हेमाराम की वर्तमान सक्रियता के कारण ताजाराम की दावेदारी कमजोर नजर आ रही है। वही कांग्रेस ताजाराम को पुनः प्रधान बनाने या जिला प्रमुख बनाने का आश्वासन देगी या ऐसे ही मना लेगी…यह कांग्रेस के लिए बहुत बड़ा चिंता का विषय है।

ताजाराम से मीडिया ने जब चुनाव लड़ने के बारे बात की तो उन्होंने कहा कि मैं स्थानीय हूं और इस बार टिकट का प्रबल दावेदार हूं। लेकिन, प्रदेश हाईकमान जिसको भी टिकट देगी वो हमें स्वीकार है। मैं कांग्रेसी हूं और कांग्रेसी ही रहूंगा, टिकट मिले या न मिले। प्रदेश हाईकमान मुझे जो जिम्मेदारी देगी, उस जिम्मेदारी को में पूर्ण रूप से निभाने की कोशिश करूंगा।

भाजपा पिता या पुत्र को ही उतारेगी चुनाव मैदान में- गुड़ामालानी से भाजपा वर्तमान विधायक लादूराम विशनोई या उनके पुत्र के.के.विशनोई को ही चुनाव मैदान में उतारेगी। सूत्रों की माने तो पार्टी ने के. के .विशनोई को हरी झंडी दे दी है।

छोटे दल भाजपा व कांग्रेस के लिए बन रहे है सिरदर्द- गुड़ामालानी विधानसभा चुनाव में भाजपा व कांग्रेस के लिए छोटे दल सिर दर्द बनते नजर आ रहे है। भाजपा से बागी होकर अभिनव राजस्थान की सदस्यता ग्रहण करने वाले श्रीराम ढाका अभिनव राजस्थान पार्टी से प्रबल दावेदार है। वहीं हनुमान बेनीवाल का तीसरा मोर्चा भी भाजपा व कांग्रेस के लिए सिर दर्द बना हुआ है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here