Home टाइम्स न्यूज जोधपुर काली से पंजाब पुलिस भी खाती है खौफ, पकड़ में आने के...

काली से पंजाब पुलिस भी खाती है खौफ, पकड़ में आने के बाद रहता था घेरे में

0
253
लॉरेंस का नंबर वन शूटर है काली उर्फ शूटर साब

जोधपुर। वासुदेव सिंधी की हत्या का मुख्य आरोपी काली राजपूत उर्फ शूटर साब पंजाब व हरियाणा के कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई की गैंग का नंबर वन शूटर बताया गया है। उसके खौफ का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब पंजाब पुलिस उसे गिरफ्तार करती थी तो वह हमेशा पुलिस के घेरे में रहता था। उसे गिरफ्तार करने के लिए राजस्थान की एसओजी ने अब अपने हाथ में कमान ली है। बताया गया है कि वह जोधपुर में अपने काम को अंजाम देने के बाद वापस पंजाब फरार हो चुका है।

कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई इन दिनों अजमेर की घूघरा घाटी जेल में बंद है। जेल में बंद होने के बावजूद वह जोधपुर में अपनी गैंग को ऑपरेट कर रहा है। इस बार रंगदारी के लिए उसने पंजाब से अपने शूटर मोहाली निवासी काली राजपूत को बुलाया। वह अपराध की दुनिया में शूटर साब के नाम से जाना जाता है। पुलिस व एसओजी का दावा है कि उसने हरेंद्र उर्फ हीरा जाट के साथ मिलकर रंगदारी के लिए वासुदेव सिंधी की गोली मारकर हत्या की है। पुलिस का मानना है कि काली और हीरा एक बाइक पर सवार होकर आए थे। स्थानीय होने के कारण हीरा बाइक चला रहा था और काली ने उसके इशारे पर वासुदेव को गोली मार दी। हत्या के बाद वे प्रदेश से बाहर निकल चुके है। इससे पहले भी शहर में अन्य व्यवसायियों व कारोबारियों से रंगदारी वसूलने और उन्हें धमकाने के लिए ये दोनों फायरिंग कर चुके है। बताया गया है कि मोहाली निवासी काली पंजाब में गैंगवार के कई मामलों में शामिल रहा है। वह कई बार पकड़ा भी जा चुका है लेकिन जमानत पर फिर रिहा हो जाता। अधिकांश समय जेल में रहने वाला यह शूटर बाहर आते ही फिर से लोगों से वसूली में जुट जाता है।

हर समय पिस्टल साथ रखता है हीरा

इधर दूसरे शूटर हरेंद्र उर्फ हीरा जाट ने भी पिछले कुछ महीनों से जोधपुर पुलिस की नाक में दम कर रखा है। उसने ही वासुदेव की हत्या के साथ डॉ. सुनिल चांडक, जैन ट्रैवल्र्स के मालिक मनीष जैन व हैंडीक्राफ्ट व्यवसायी रितेश लोहिया के मकान पर फायरिंग की थी। बताया गया है कि वह अपने साथ हर समय पिस्टल रखता है। जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव में विरोधी गुट के हाथों पड़ी जोरदार मार के बाद वह अपराध की दुनिया में आ गया। जेल में उसकी मुलाकात लॉरेंस विश्नोई के गुर्गों से हुई और वह भी लॉरेंस के साथ रंगदारी के काम में लग गया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here