ओटी में झगड़ा: राजस्थान हाईकोर्ट ने तलब की तीनों बड़े अस्पतालों की रिपोर्ट

0
181

जोधपुर के उम्मेद अस्पताल में डॉक्टरों के झगड़े के चलते हुई नवजात शिशु की मौत मामले में प्रसंज्ञान लेने के बाद हाईकोर्ट ने मंगलवार को एक और कमेटी बनाने के निर्देश दिए हैं. राजस्थान हाईकोर्ट ने इस इस कमेटी के गठन के साथ ही तीन दिन में शहर के तीनों बड़े अस्पतालों की व्यवस्था पर रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं. यह कमेटी अब 8 सितंबर को अपनी रिपोर्ट और सुझाव पेश करेगी. इससे पहले जस्टिस जीके व्यास और जस्टिस मनोज गर्ग की खंडपीठ में एडीएम सीमा कविया ने अतिरिक्त महाधिवक्ता शिवकुमार व्यास के साथ पेश होकर रिपोर्ट पेश की. हाईकोर्ट ने रिपोर्ट को पढ़ने के बाद तत्काल चिकित्सा शिक्षा सचिव आनन्द कुमार को तलब किया. सचिव आनन्द कुमार दस मिनट में मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल के साथ कोर्ट पहुंचे. जस्टिस व्यास ने मौखिक रूप से कहा कि सचिव महोदय अस्पताल में इस प्रकार की घटनाए हो रही हैं. ये बात तो सही है कि थियेटर में चिकित्सक का झगड़ा होना और विडियो वायरल होना संगीन अपराध की श्रेणी में माना जाए. क्योंकि महिला के ऑपरेशन थियेटर का विडियो अपराध है. उसकी अस्मिता का सवाल भी है.न्यायमित्र के सुझाव पर कमेटी का गठन
हाईकोर्ट ने निर्देश दिए कि न्यायमित्र के सुझाव पर तीन सदस्य कमेटी का गठन किया जाए. पूर्व प्रिसिंपल मेडिकल कॉलेज डॉ. अरविन्द माथुर, एडीएम सीमा कविया और एक सदस्य को लेकर कमेटी बनाई जाए. इस कमेटी को तीन दिन में जोधपुर के मथुरदास माथुर, उम्मेद अस्पताल और महात्मा गांधी अस्पताल की व्यवस्था को लेकर रिपोर्ट पेश करने को निर्देश दिए गए. गौरतलब है कि उम्मेद अस्पताल में पिछले महीने चलता ऑपरेशन छोड़ कर डॉक्टर थियेटर में ही झगड़ने लगे थे. उनकी लापरवाही का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था और फिर प्रसंज्ञान लिया गया तथा जनहित याचिका दायर की गई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here