दबंगों के खौफ से परिवार को छोड़ना पड़ा गांव, हफ़्ता भर बीत जाने के बाद पुलिस ने साधी चुप्पी  

0
17

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-आरोपियों के हौसले हुए बुलंद : जान से मारने की दे रहे धमकियाँ  

-पीड़ित ने 2 बार एसपी को सौंप चुका है ज्ञापन 

बाड़मेर- जिले के बायतु क्षेत्र के खरथाणियों की ढाणी, सेवनियाला में कुछ दिन पूर्व एक परिवार पर घर में घूसकर कुल्हाड़ीया व लाठिया से जानलेवा हमला करने के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर गुरुवार को पीड़ित परिवार ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर बाड़मेर को ज्ञापन सौंपकर कानूनी कार्यवाही करवानें की मांग की।

पीड़ित केवलाराम गुरु ने ज्ञापन में बताया कि दिनांक 28.06.2018 को प्रातः 7.00 बजे मै अपने परिवार के सदस्यों के साथ मेरे खेत में बने मेरे घर मै बेठा था। इस दौरान मोहनराम पुत्र खानूराम, रमेश पुत्र मोहनराम, गोरखाराम पुत्र मोहनराम, सुशील पुत्र मोहनराम, रेवन्ती पत्नि मोहनराम, माया पुत्री मोहनराम जाति-गुरु निवासी-खरथाणियों की ढाणी, सेवनियाला वगैरा एक राय होकर हाथों में कुल्हाड़ीया, लाठिया से लैंस होकर मेरे परिवार को खत्म करने की नियत से मेरे घर में घूसकर मेरे व मेरे पिता-नवलाराम माता-चुकीदेवी व मेरी नाबालिक बहिन दिनु के साथ मारपीट कर कुल्हाड़ियों से जान लेवा हमला बोल दिया, जिससें हम सभी लोग गंभीर घायल होकर लहुलुहान हो गये।

आरोपियों के जान लेवा हमले से मेरे परिवार के सभी सदस्यों के सिर व अन्य जगहों पर गंम्भीर चोटे आई जिससें हम सभी लोग गंभीर घायल हो गया। आरोपियों ने मेरी नाबालिंग बहिन दिनु के साथ छेड़छाड़ कर उसके पहनें कपड़े फाड़ कर उसकी मेरे परिवार के सामने लज्जा भंग की। इस दौरान आस-पास के लोगों ने हमारी रोने की आवजे सुनकर मौके पर आकर हम लोगों को इन दबंग लोगों से छुड़ाया। इसके बाद हमने एम्बुलेंस 108 को फोन किया जो मौके पर पहुची वह हम लोगों को गंभीर घायल अवस्था में बायतु होस्पीटल पहुंचाया, जहां हमारी गंभीर घायल अवस्था में देखकर डाक्टरों ने हमें बाड़मेर राजकीय चिकित्यालय में रैफर कर दिया जहां पर हम लोगों ने अपना ईलाज करवाया।

अब मेरे परिवार गांव को छोड़कर बाड़मेर में स्थित एक धर्मशाला में किराये का रुम लेकर निवास कर रहा है। आरोपी बदमाश प्रवृति के लोग है जो आज भी हमें निरतंर जान से मारने की धमकियां दे रहे है। अगर समय रहते इन लोगों को गिरफ्तार नहीं किया गया तो ये लोग हमें कभी भी जान से मार सकते है। आरोपियों की राजनितिक पहुँच होने के कारण आज घटना के हफ्ता भर बीत जाने के उपरान्त भी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पीड़ित केवलराम ने बताया कि मामले को लेकर वो 2 बार एसपी से भी मिल चुका है। लेकिन, पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है।

उक्त सभी आरोपियों ने दिनांक 01.07.2018 को रात में 1.00 बजे मेरे घर में घुसे जहां मेरे घर पर सौ रही मेरी दादी मां वरजू देवी उम्र 98 वर्ष व मेरी भुआ सुन्दरदेवी उम्र 70 वर्ष घर पर सौ रही थी। इन लोगों ने इनके साथ मारपीट कर मेरे घर में रखा सामान सौने चादी के गहने, चारपाई, बिस्तर, लोहे का गेट व पैसे लेकर गये, साथ ही घर को क्षतिग्रस्त कर नुकसान कर उक्त जमीन से हमारे घर को तोड़कर वहां पर काश्त कर दी। अगर समय रहते आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो मेरे परिवार को मजबूरन जिला कलेक्टेªट के आगे धरने पर बेठने को मजबूर होना पडे़गा।
पीड़ित परिवार ने कुल्हाड़ीया, लाठिया लेकर घर में घूसकर परिवार पर जानलेवा हमला करने के सभी आरोपियों को तुरन्त गिरफ्तार कर इनके खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही करने व परिवार को सुरक्षा दिलवानें की मांग की।

यह है मामला

मोहनराम व नवलाराम दो सगे भाई है। इन दोनों भाइयों में जमीन को लेकर कई वर्षो से विवाद चल रहा है। जमीन को लेकर दोनों परिवारों में हमेशा लड़ाई झगड़े होते रहते है। जमीनी विवाद को लेकर मोहनराम के परिवार ने नवलाराम के परिवार पर जानलेवा हमला बोल दिया। जमीन में नवलाराम व मोहनराम का 1/2 हिस्सा है, जिस भूमि का बंटवारे हेतु वाद राजस्व अपील न्यायालय बाड़मेर में विचाराधीन है, उपखण्ड अधिकारी बायतु के निर्णय के खिलाफ अपील विचाराधीन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here