लक्ष्य निर्धारित कर पेयजल परियोजनाओं को प्राथमिकता से पूर्ण करवाएं- गुहा

0
93

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-आमजन की समस्याओं का प्राथमिकता से निस्तारण करने के निर्देश
बाडमेर- पेयजल परियोजनाओं का पूर्ण करवाने के लिए लक्ष्य निर्धारित कर उसके अनुरूप कार्य की क्रियान्विति सुनिश्चित की जाए। ताकि आमजन को इसका फायदा मिल सके। आमजन की ओर से प्रस्तुत की जाने वाले परिवेदनाओं के निस्तारण की कार्य सीमा तय की जाए। जिले की प्रभारी सचिव एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग की प्रमुख शासन सचिव श्रेया गुहा ने गुरूवार को कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मे आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान यह बात कही।
इस दौरान प्रमुख शासन सचिव श्रेया गुहा ने कहा कि गर्मी के मौसम के दौरान जिले मे जलापूर्ति सुनिश्चित करने के लिए पुख्ता इंतजाम किए जाए। उन्होने टैंकरों से जलापूर्ति करने के लिए समुचित तैयारियां करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि विभागीय अधिकारी आपसी समन्वय से राज्य सरकार की मंशा के अनुरूप जन कल्याणकारी योजनाओं से अधिकाधिक लोगों को लाभांवित करवाएं। गुहा ने कहा कि विद्युत कटौती की वजह से जलापूर्ति प्रभावित नहीं होनी चाहिए। डिस्काम के अधिकारी संबंधित उपखंड एवं विभागीय अधिकारियों को विद्युत कटौती संबंधित अग्रिम सूचना उपलब्ध कराएं, ताकि जलापूर्ति सुनिश्चित करने की व्यवस्था की जा सके। उन्होने दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत विद्युत कनेक्शन जारी करने के कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। प्रमुख शासन सचिव गुहा ने बाड़मेर जिले मे प्रगतिरत पेयजल परियोजनाओं एवं विकास कार्याे के बारे मे विस्तार से जानकारी ली। साथ ही उपखंड एवं तहसील स्तर पर इनकी प्रगति की व्यक्तिगत रूप से मोनेटरिंग करने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि स्थानीय जरूरत के मुताबिक कौशल विकास संबंधित प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाने के साथ अधिकाधिक लोगों को रोजगार से जोड़ा जाए। उन्होने आगामी समय मे मौसमी बीमारियों, अतिवृष्टि से निपटने के माकूल इंतजाम करने तथा कौशल विकास योजनाओं से अल्पसंख्यक वर्ग को भी लाभांवित करवाने के निर्देश दिए।
इस दौरान राजस्थान उर्दू अकादमी के चैयरमैन असरफ अली मे बाड़मेर जिले मे अल्पसंख्यक कल्याण के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों के बारे मे जानकारी दी।
जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते ने जिले मे संचालित विभिन्न योजनाओं की प्रगति, गर्मियों के दौरान जलापूर्ति की कार्य योजना एवं प्रभावी मोनेटरिंग व्यवस्था के बारे मे विस्तार से जानकारी दी। उन्होने बताया कि डीएफएमटी, सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम, मनरेगा समेत अन्य योजनाओं मे वृहद स्तर पर विकास कार्य कराए जा रहे है।
इस दौरान उप वन संरक्षक विक्रम प्रधान ने वन विभाग की परियोजनाओं, अतिरिक्त जिला कार्यक्रम समन्वयक सुरेश कुमार दाधीच ने महात्मा गांधी नरेगा, अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी पीसी दीप्पन ने चिकित्सा विभाग की ओर से संचालित विभिन्न योजनाओं, अधीक्षण अभियंता एमएल जाट ने दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना, हेमंत चौधरी ने पेयजल परियोजना, शंकरलाल मेघवाल ने नर्मदा नहर परियोजना, अधिशाषी अभियंता रामबाबू शर्मा जिला परिषद की विभिन्न योजनाओं, सार्वजनिक निर्माण विभाग के छगनलाल खत्री ने सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से प्रस्तावित एवं प्रगतिरत कार्याें के बारे मे विस्तार से जानकारी दी।
बैठक के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ओपी बिश्नोई ने अबका आभार जताते हुए आमजन की समस्याओं के निस्तारण के विभागवार नियंत्रण कक्ष स्थापित करने की बात कही। उन्होने कहा कि नियंत्रण कक्ष मे दर्ज होने वाली शिकायतों के निस्तारण के लिए प्रभावी मोनेटरिंग की जाए। बैठक के दौरान विभिन्न जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here