बार एवं बैंच आपसी समन्वय से आम जनता को राहत प्रदान करें- श्रीनिवास

0
48

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-राजस्व प्रकरणों का त्वरित और समय पर निस्तारण करने के निर्देश

बाड़मेर- बार एवं बैंच मे आपसी समन्वय एवं सहयोग बना रहे, ताकि आम जनता को राहत प्रदान की जा सके। राजस्व प्रकरणों का त्वरित और समय पर निस्तारण किया जाए। राजस्व मंडल के अध्यक्ष वी. श्रीनिवास ने बुधवार को बाड़मेर जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट कांफ्रेस हाल मे बार एसोसिएशन के प्रतिनिधियों की बैठक के दौरान यह बात कही।

राजस्व मंडल अध्यक्ष वी. श्रीनिवास ने कहा कि उपखण्ड मजिस्ट्रेट्स को पाबंद किया गया है कि कोर्ट मैन्युअल के अनुसार उपखण्ड मजिस्ट्रेट सोमवार से बुधवार तक कोर्ट में बैठ कर मामलों का निस्तारण करें। बंटवारे से संबंधित मामलों में तहसीलदारों को निर्देशित किया गया है कि वह स्वयं मौके पर जाएं और वस्तु स्थिति की जानकारी लेकर रिपोर्ट पेश करें। उन्होंने कहा कि राजस्व न्यायालयों में हर मामले का निस्तारण विधायी प्रक्रिया से होगा तथा इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही को राजस्व मण्डल की ओर से बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके अलावा निर्देश दिए गए है कि राजस्व प्रकरणों में साक्षी के आने पर उनके साक्ष्य लेना सुनिश्चित किया जाए तथा प्रकरणों में अनावश्यक तारीखें नहीं दी जाएं। राजस्व मंडल अध्यक्ष ने निर्णय में गुणवत्ता पर विशेष जोर दिया। उन्होने कहा कि लम्बी अवधि से एक ही स्थिति पर अटके मामलों को गंभीरता से लेते हुए हर बार प्रकरण आगे बढे, यह कोशिश होनी चाहिए। राजस्व मंडल अध्यक्ष ने राजस्व बार एसोसिएशन प्रतिनिधियों के साथ बैठक में चर्चा एवं प्राप्त सुझावों के परिप्रेक्ष्य में कहा कि सभी सुझावों पर आवश्यक स्तर पर कार्यवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि क्वालिटी जजमेंट के लिहाज से आवश्यक प्रशिक्षण, वर्कशॉप, कैम्प आदि के लिए भी प्रयास किए जाएंगे।

इस दौरान अधिवक्ता धनराज जोशी, रूपसिंह राठौड़, मदनलाल रामावत, बलवंतसिंह, भाखराराम विश्नोई, अंबालाल जोशी, मुकेश जैन समेत विभिन्न अधिवक्ताओं ने बैठक में सुझाव रखे कि प्रशासनिक अधिकारियों को अदालत में बैठने का पर्याप्त समय मिले, ताकि मामलों के समय पर निस्तारण का रास्ता खुले। लोक अदालतों में वास्तव में उन्हीं मामलों को निस्तारित माना जाए जो वास्तविकता में आपसी समझाइश से सुलझें। लम्बी अवधि से अटके मामलों में निरीक्षण का प्रावधान होना चाहिए, ताकि सही वस्तुस्थिति सामने आ सके। उन्होंने बार सदस्यों से आह्वान किया कि वे कभी भी किसी विधिक बिंदु पर चर्चा करना चाहें तो वे उनसे परामर्श ले सकते हैं। जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते एवं अतिरिक्त जिला कलक्टर ओपी बिश्नोई ने जिले मे लंबित प्रकरणों, राजस्व लोक अदालत अभियान मे निष्पादित किए जा रहे कार्याें के बारे मे जानकारी दी। जिला कलक्टर नकाते ने राजस्व मंडल अध्यक्ष को बैठक मे दिए गए निर्देशों की पालना सुनिश्चित करने का भरोसा दिलाया।

इस दौरान बार एसोसिएशन के अध्यक्ष करनाराम चौधरी, राजकीय अधिवक्ता सोहनलाल दवे, सोहनलाल चौधरी, स्वरूपसिंह राठौड़ समेत विभिन्न अधिवक्तागण उपस्थित रहे। इससे पहले राजस्व बोर्ड के अध्यक्ष वी.श्रीनिवास ने बुधवार सुबह जिला कलक्टर कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होने कलेक्ट्रेट परिसर के विभिन्न कक्षों में पहुंचकर रिकॉर्ड संधारण का अवलोकन किया। साथ ही संबंधित कार्मिकों से रिकार्ड संधारण एवं कार्य प्रणाली के बारे मे जानकारी ली। उन्होंने जिले के तहसील मुख्यालयों पर बन रहे मॉडर्न रिकॉर्ड रूम की प्रगति की जानकारी लेते हुए इसको अतिशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओपी बिश्नोई समेत विभागीय अधिकारी उनके साथ रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here