Home बाड़मेर-टाइम्स लव ज़िहाद की बढ़ती घटनाओं के खिलाफ मुस्लिम समुदाय के लोग उतरे...

लव ज़िहाद की बढ़ती घटनाओं के खिलाफ मुस्लिम समुदाय के लोग उतरे सड़कों पर, सौंपा ज्ञापन

0
93

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-राष्ट्रपति पीएम, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

-बाहरी लोगों का सत्यापन करवाने की मांग 

बाड़मेर- जिले में बढ़ती लव ज़िहाद की घटनाओं के मामले में कड़ी कार्यवाही करने, जिले में राह रहे बाहरी लोगों का सत्यापन करवाने तथा बाड़मेर जिले की कौमी एकता, साम्प्रदायिक सौहार्द की भावना को बरकरार रखने के संबंध में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने बाड़मेर एडीएम ओपी विश्नोई को भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व राजस्थान की मुखिया के नाम ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में उन्होंने बताया कि हाल ही में कश्मीरी युवक दवाड़ा बाड़मेर शहर में आकर यहां की बहन-बेटी को बहला फुसलाकर प्रेमजाल में फंसाना व शादी करना सीमावर्ती जिले बाड़मेर के लिए बेहद ही शर्मनाक घटना है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज इस तरह के घृणित कार्य की कड़े शब्दों में निंदा करता है तथा मामले में पुलिस प्रशासन से कड़ी कार्यवाही करने की मांग करता है।

उन्होंने ज्ञापन में बताया कि बाड़मेर जिला सीमावर्ती व संवेदनशील क्षेत्र है। शहर में लगातार बाहरी लोगों का रुझान इस तरह बढ़ना जिले के लिए बेहद घातक है।उन्होंने जिला प्रशासन को लापरवाह बताते हुए कहा किप्रशासन द्वारा बिना जांच पड़ताल किए इस तरह की लापरवाही बरतना जिले की शांति व्यवस्था के लिए ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज इन तमाम बाहरी लोगों की बारीकी से सत्यापन करने तथा दोषियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही करने की मांग करता है।

कोर्ट के फैसले का करेंगे समान 

साथ ही मुस्लिम समाज के लोगों ने ज्ञापन में बताया कि फातिहा चौक मुस्लिम समाज की वर्षों पुरानी संपति है। जहां मुस्लिम समाज के लोग दुनिया से रुखसत हुए मोमिनों के इसाले सवाब के लिए फातिहा व दुआएं पढ़ते है व दो मिनट का मौन रखते हैं। जिसके वर्षों पुरानी प्रमाण मुस्लिम समाज के पास मौजूद है।पूर्व में सेशन कोर्ट द्वारा फातिहा चौक का केस मुस्लिम समाज के पक्ष में हो रखा है। किंतु समय-समय पर चुनिंदा लोग इस मामले को तूल देकर शहर के साम्प्रदायिक सौहार्द के माहौल को खराब करने चाहते है। उन्होंने ज्ञापन में बताया कि वर्तमान में फातिहा चौक का मूल विवाद माननीय न्यायालय में विचाराधीन है। उन्होंने कहा कि माननीय न्यायपालिका द्वारा फातिहा चौक के मुद्दे पर जो भी निर्णय आएगा, मुस्लिम समाज उस फैसले को मानते हुए सम्मान करेगा।

ज्ञापन में उन्होंने कहा कि बाड़मेर जिले में हाल ही कुछेक घटनाओं ने जिले की गंगा-जमुनी संस्कृति, सर्वधर्म समभाव की भावना पर कुठाराघात करने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं में मुस्लिम समाज का कोई हाथ, सरोकार नहीं है। उन्होंने कहा कि मारवाड़ की बेटी- बहन के साथ घृणित कार्य करता है तो मुस्लिम समाज उस व्यक्ति के खिलाफ प्रशासन से कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग करता है।

ज्ञापन में उन्होंने बढ़ती लव ज़िहाद की घटनाओं के मामले में कड़ी कार्यवाही करने, जिले में रह रहे बाहरी लोगों का सत्यापन करवाने तथा बाड़मेर जिले की कौमी एकता, साम्प्रदायिक सौहार्द की भावना को बरकरार रखने के संबंध में कार्यवाही करवाने की मांग की है।

ये रहे मौजूद
मुस्लिम इंतेजामिया कमेटी के सदर हाजी अब्दुल गनी तेली, सिंधी मुस्लिम होस्टल के पूर्व अध्यक्ष ईशा खान राजड़, कमेटी के नायब सदर मोहम्मद रफ़ीक कुरेशी, खजांची बच्चू खान कुंभार, कोटवाल समाज के सचिव हारून भाई कोटवाल, पूर्व प्रचार मंत्री शाह मोहम्मद सिपाही, यूसुफ हालेपोतरा, हाजी हनीफ तेली, मुख्तियार नियारगर, इख्तियार खान, जाकिर हुसैन सहित मुस्लिम समाज के मौजिज लोग मौजूद रहे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here