नकल गिरोह के मास्टर माइंड जगदीश विश्नोई पर 25 हजार का इनाम घोषित

0
21

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

बाड़मेर- नकल गिरोह के मास्टर माइंड जगदीश विश्नोई को पकड़ने के प्रयास तेज हो गए है। अगले दो माह प्रतियोगी परीक्षाओं के है, ऐसे में सरकार ये नहीं चाहती कि फिर से कोई पेपर आउट हो और परीक्षा दुबारा करवानी पड़े। ऐसी स्थिति में नकल गिरोह सरगना जगदीश विश्नोई पर 25 हजार रुपए का इनाम रखा है। जो भी व्यक्ति जगदीश विश्नोई की सूचना देगा उसे इनाम दिया जाएगा।
गौरतलब है कि दो माह पूर्व बाड़मेर में बीएसटीसी एग्जाम के दौरान सोशल मीडिया पर लीक बीएसटीसी के पेपर के मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था। जिनसे पूछताछ में भी पेपर जगदीश विश्नोई से खरीदना सामने आया है। नकल गिराेह के मुख्य सरगना और बाड़मेर कोतवाली थाने के वांछित आरोपी जगदीश विश्नोई पर एसओजी ने 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। जगदीश विश्नोई की गैंग पिछले 8-10 साल से प्रदेश में सक्रिय है और कई भर्ती परीक्षाओं में नकल करवा चुकी है। बाड़मेर पुलिस के हत्थे यह आरोपी नहीं चढ़ा है। ऐसे में मुख्य सरगना पर इनाम घोषित किया गया है। जगदीश के खिलाफ करीब एक दर्जन मामले दर्ज है। लगातार नकल प्रकरणों में जगदीश विश्नोई का नाम आने के बावजूद पुलिस उसे पकड़ नहीं पा रही है। जूनियर एकाउंटेंट, पुलिस उप निरीक्षक, आरएएस, पटवारी, ग्रामसेवक, एलडीसी सहित कई भर्तियों में नकल करवाने का खुलासा पूर्व में ही हो चुका है। गत दिनों बाड़मेर में बीएसटीसी भर्ती 2018 का पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस मामले में कोतवाली पुलिस थाने में प्रकरण दर्ज है, वहीं पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से हल किए हुए पेपर की हार्ड कॉपियां बरामद की थी। पकड़े गए इन चारों आरोपियों ने खुलासा किया कि यह पेपर उन्होंने जगदीश विश्नोई से ही खरीदा था।
अगस्त में एलडीसी की परीक्षा अगस्त माह में एलडीसी भर्ती की परीक्षा तय है, करीब 15 लाख लोगों ने एलडीसी भर्ती के लिए आवेदन किया गया है। व्यवस्थाओं को चुनौती देकर नकल गिरोह हर बार भर्तियों में पेपर को लीक करने और नकल करवाने में कामयाब हो जाते है। ऐसे में सरकार इसके लिए रिस्क नहीं लेना चाहती है। इन भर्तियों से पहले जगदीश की गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिए है।
बाड़मेर- नकल गिरोह के मास्टर माइंड जगदीश विश्नोई को पकड़ने के प्रयास तेज हो गए है। अगले दो माह प्रतियोगी परीक्षाओं के है, ऐसे में सरकार ये नहीं चाहती कि फिर से कोई पेपर आउट हो और परीक्षा दुबारा करवानी पड़े। ऐसी स्थिति में नकल गिरोह सरगना जगदीश विश्नोई पर 25 हजार रुपए का इनाम रखा है। जो भी व्यक्ति जगदीश विश्नोई की सूचना देगा उसे इनाम दिया जाएगा।
गौरतलब है कि दो माह पूर्व बाड़मेर में बीएसटीसी एग्जाम के दौरान सोशल मीडिया पर लीक बीएसटीसी के पेपर के मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया था। जिनसे पूछताछ में भी पेपर जगदीश विश्नोई से खरीदना सामने आया है। नकल गिराेह के मुख्य सरगना और बाड़मेर कोतवाली थाने के वांछित आरोपी जगदीश विश्नोई पर एसओजी ने 25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। जगदीश विश्नोई की गैंग पिछले 8-10 साल से प्रदेश में सक्रिय है और कई भर्ती परीक्षाओं में नकल करवा चुकी है। बाड़मेर पुलिस के हत्थे यह आरोपी नहीं चढ़ा है। ऐसे में मुख्य सरगना पर इनाम घोषित किया गया है। जगदीश के खिलाफ करीब एक दर्जन मामले दर्ज है। लगातार नकल प्रकरणों में जगदीश विश्नोई का नाम आने के बावजूद पुलिस उसे पकड़ नहीं पा रही है। जूनियर एकाउंटेंट, पुलिस उप निरीक्षक, आरएएस, पटवारी, ग्रामसेवक, एलडीसी सहित कई भर्तियों में नकल करवाने का खुलासा पूर्व में ही हो चुका है। गत दिनों बाड़मेर में बीएसटीसी भर्ती 2018 का पेपर सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस मामले में कोतवाली पुलिस थाने में प्रकरण दर्ज है, वहीं पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से हल किए हुए पेपर की हार्ड कॉपियां बरामद की थी। पकड़े गए इन चारों आरोपियों ने खुलासा किया कि यह पेपर उन्होंने जगदीश विश्नोई से ही खरीदा था।
अगस्त में एलडीसी की परीक्षा अगस्त माह में एलडीसी भर्ती की परीक्षा तय है, करीब 15 लाख लोगों ने एलडीसी भर्ती के लिए आवेदन किया गया है। व्यवस्थाओं को चुनौती देकर नकल गिरोह हर बार भर्तियों में पेपर को लीक करने और नकल करवाने में कामयाब हो जाते है। ऐसे में सरकार इसके लिए रिस्क नहीं लेना चाहती है। इन भर्तियों से पहले जगदीश की गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here