मां सरस्वती देवी का वरदान थी- डॉ. चौधरी

43

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-पुण्यतिथि पर अर्पित किए श्रद्धासुमन

बाड़मेर- प्रजापिता ब्रहम कुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की प्रथम प्रमुखा मातेश्वरी जगतम्बा सरस्वती की प्रथम पुण्यतिथि पर बाड़मेर शहर के महावीर नगर स्थित आश्रम में यूआईटी चैयरपर्सन डॉ. प्रियंका चौधरी, आश्रम प्रमुखा बहिन बबिता, संकल्प क्लासेज बाड़मेर के एमडी प्रेमसिंह राजपुरोहित, समाजसेवी रणवीरसिंह भादू, स्कूल शिक्षा परिवार के जिलाध्यक्ष सुरेश जाटोल, बहिन सुशिला, डॉ. राधा रामावत ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया।

इस दौरान डॉ. प्रियंका चौधरी ने कहा कि मां जगतम्बा सरस्वती ने शरीर छोड़ा है पर आज भी वे हमारे साथ है। उनकी स्मरणीय शक्ति और महिला उत्थान के लिए किए गए कार्य सदियो-सदियों तक याद किए जायेंगे, ऐसी महान व्यक्तित्व की धनी जिसने इतना बड़ा परिवार के सहारे मानव कल्याण के लिए ही पूरा जीवन समर्पित कर दिया, वे साक्ष-साक्ष देवी का रूप थी। वहीं उन्होंने कहा कि मेडिटेशन और योग मनुष्य को करना चाहिए जिससे मन और परिवार में शांति और सुख रहता है और सारी तकलीफें दूर होती है। इस अवसर पर आश्रम प्रमुखा बहिन बबिता ने कहा कि मुनष्य जीवन में लाभ और मोह के पीछे भागता रहता है परंतु जब तक मन में शांति नहीं होगी तब तक वो शारिरीक रूप से तनाव में रहने से कोई कार्य नहीं कर पाता। इस दौरान उन्होंने मां सरस्वती की जीवनी पर विशेष प्रकाश डाला। इस अवसर पर संकल्प क्लासेज के एमडी प्रेमसिंह राजपुरोहित ने कहा कि मां सरस्वती मां सरस्वती के बताए हुए रास्ते पर हम सभी को चलना चाहिए। उन्होंने कहा कि ब्रहमा कुमारी आश्रम आकर जो मन को शांति और शुकुन मिलता है वो कहीं नहीं मिलता है। इस अवसर पर समाजसेवी रणवीरसिंह भादू ने कहा कि जीवन में हमेशा इंसान को खुश रहना चाहिए। इससे पूर्व बहिन सुशिला ने संस्थान का परिचय देते हुए मां सरस्वती के जीवन परिचय के बारे अवगत करवाया। वहीं कार्यक्रम का संचालन हरीश जांगिड़ ने किया तथा धन्यवाद डॉ. रामावत ने व्यक्त किया।

इस अवसर पर भगवानदास ठारवानी, नरेन्द्रसिंह सोढ़ा, हरीश जीवनानी, तुलसाराम, पोकराराम सोनी, खेराजमल राजेन्द्र, अंचलाराम, लीलाधर सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here