बाड़मेर क्लब भूखंड में धोखाधड़ी का मामला : आज़ाद के समर्थन में उतरा सर्वसमाज, बाड़मेर प्रशासन पर लगे गंभीर आरोप 

96

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-साजिश रचकर आजाद को फंसाया- सर्वसमाज 

बाड़मेर- कांग्रेस युवा नेता और आरसीए के नवनियुक्त कोषाध्यक्ष आजादसिंह राठौड़, बाड़मेर क्लब के सचिव राजूसिंह व अन्य के खिलाफ धोखाधड़ी का दर्ज मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। गौरतलब है कि शुक्रवार की रात करीब 3 बजे के बाद यह मामला शहर के कोतवाली थाने में दर्ज हुआ और जिसके बाद जिला प्रशासन ने त्वरित कार्यवाही करते हुए शनिवार अलसुबह बाड़मेर क्लब के सचिव राजूसिंह को गिरफ्तार कर सिवाना कोर्ट में पेश किया और वहीं मामले में रविवार को जिला प्रशासन द्वारा आरसीए के कोषाध्यक्ष आजादसिंह के कार्यालय को खाली कर उसे सील कर दिया और पीडब्ल्यूडी विभाग को कार्यालय सुपुर्द कर दिया। मामले को लेकर सर्वसमाज में जिला प्रशासन के प्रति काफी रोष नज़र आ रहा है।

आरसीए कोषाध्यक्ष आज़ादसिंह राठौड़ और खेल संघ के सचिव राजू सिंह लेगा के खिलाफ जिला प्रशासन ने एक किराये के मामले में शुक्रवार रात को 3:18 बजे मुकदमा दर्ज कराया। पूरे राजस्थान ही नही भारत वर्ष में कभी ऐसा नही हुआ। यह बात यशवर्धन सिंह ने आरसीए कोषाध्यक्ष आज़ादसिंह के खिलाफ राज्य सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन द्वारा की गई दमनात्मक कार्यवाही के विरोध में राणी रूपादे संस्थान में आज़ाद के समर्थन में आयोजित सर्व समाज की बैठक में कही। उन्होंने कहा कि जिस संघ में जिला कलेक्टर सचिव को अवैध बात रहे है। उस संघ के अध्यक्ष जिला कलेक्टर खुद है। सहकारी समितियों के नियमानुसार संघ अध्यक्ष को साल में एक बैठक अनिवार्य आहूत करनी होती है। इतने साल तक जिला कलेक्टर ने अपने कर्तव्य का निर्वहन नही किया। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन ने संविधान, नियम, कानून को ताक में रख द्वेषपूर्ण भावना से आज़ाद सिंह के खिलाफ सरकार के इशारे पर की। उन्होंने कहा कि इस तरह की कार्यवाही बड़े अपराधियो के खिलाफ भी नही होती। कानून के रखवाले दबाव में नियम और कानून को तक मे रख कार्यवाही करने लग जाये तो आम आदमी किसपर भरोसा करें। सर्व समाज की बैठक को संबोधित करते हुए भँवर लाल जेलिया ने कहा कि प्रशासन ने एक सफल व्यवसायी की साख को धूमिल करने का षड्यंत्र रचा और उसे अमली जामा पहनाया। प्रशासन को जवाब देना पड़ेगा। कमलसिंह चुली ने कहा कि एक युवा अपने दम पर आगे बढ़ रहा है उसके खिलाफ राजनीतिक षड्यंत्र रचा उसे बदनाम किया जा रहा। प्रशासन के इस कदम को कोई सहन नही करेगा। पृथ्वी सिंह रामदेरिया ने कहा कि ऊपर के इशारे से की गई बर्बरतापूर्ण कार्यवाही का सर्व समाज विरोध करता है। युवा की राजनीति को खत्म करने का षड्यंत्र भले रच हो सफल होने नही देंगे। उन्होंने कहा कि समाज को इस प्रकरण के बाद लामबंद होकर सरकार और प्रशासन से जवाब मांगना चाहिए। आज आज़ाद के साथ हुआ कल आपके साथ होगा।

सभा को यूसुफ खान, सांगसिंह लुणु, हुकम सिंह अजीत, नारायण सिंह कपूरड़ी, खुमान सिंह सोढा, कमल सिंह रानीगांव, पूर्व पार्षद शांति गहलोत, पार्षद किशोर शर्मा, गिरधर सिंह कोटड़ा सहित कई वक्ताओं ने संबोधित कर राज्य सरकार के दबाव में आज़ाद सिंह के खिलाफ की गई अनैतिक, नियम विरुद्ध कार्यवाही की कड़े शब्दों में भ्रत्सना की गई। कार्यक्रम में सभी ने सर्व सम्मति से तय किया कि इस लड़ाई को कानूनी रूप से लड़ा जाए। जिला प्रशासन ने द्वेषपूर्ण कार्यवाही की है उसकी शिकायत महामहिम राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को की जाए। इसके लिए एक डेलिगेशन दिल्ली जाएगा। सभा को संबोधित करते हुए हरीश धनदे ने कहा कि जिला कलेक्टर सहित षड्यंत्र में धमिल लोगो के खिलाफ न्यायालय के जरिये मुकदमे किये जायें। प्रशासन ने दमन की नीति अपना संविधान नियम कानून की धज्जियां उड़ा दी। उन्होंने कहा कि एक लिमिटेड कंपनी को जिला प्रशासन कैसे खुर्द बुर्द कर सकता है। जिला प्रशासन ने नेहरू युवा केन्द्र के समन्वयक को बलि का बकरा बना दिया।

सभा में हीर सिंह भाटी, किशोर सिंह कानोड़, दुर्जन सिंह गड़ीसर, रिड़मल सिंह दांता, महेंद्र सिंह तेजमालता, महेंद्र सिंह तारातरा, मान सिंह भाटी, नेपाल सिंह, भीम सिंह सोढा, नरेंद्र खत्री, मोहम्मद सादिक, चन्दन सिंह भाटी सहित सैकड़ों की तादाद में सर्व समाज के लीग उपस्थित थे। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिला कलेक्टर दमन और कानून विरोधी विचारधारा के है उन्हें ज्ञापन नही देंगे। सर्वसम्मति से बड़े आंदोलन की भूमिका पर चर्चा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here