बाड़मेर क्लब भूखंड में धोखाधड़ी का मामला : RCA कोषाध्यक्ष का कार्यालय सीज़

90

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-शाम 5 बजे से देर रात तक चली सीज़ की कार्यवाही 

-तीन थानों की पुलिस रही मौजूद 

बाड़मेर- सीमावर्ती बाड़मेर जिले के कांग्रेस युवा नेता और नवनियुक्त आरसीए कोषाध्यक्ष आजादसिह की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। शुक्रवार देर रात करीब साढ़े 3 बजे धोखाधड़ी का मामला दर्ज होने के बाद प्रशासन ने त्वरित कार्यवाही करते हुए बाड़मेर क्लब केई तथाकथित सचिव राजुसिंह को गिरफ्तार कर लिया वहीं शनिवार को उसे सिवाना कोर्ट मे पेश कर जमानत मे रिहा कर दिया गया। वहीं मामले मे रविवार को आरसीए कोषाध्यक्ष आजादसिंह के कार्यालय जो जिला कलक्टर और एसीपी बंगले के बीच स्थित है, उस कार्यालय को सीज की कार्यवाही की। कार्यवाही करीब शाम 5 बजे से शुरू हुई कार्यवाही देर रात तक चली।

मामले को लेकर जिला प्रशासन का कहना है कि बाड़मेर क्लब के तथाकथित सचिव, आरसीए के कोषाध्यक्ष आजादसिह, तत्कालीन रजिस्ट्रार सहित अन्य ने मिलकर कूटरचित दस्तावेज बनाकर क्लब परिसर की जमीन का फर्जी तरीके से लीज डीड बनाई। प्रशासन द्वारा कई लिखित नोटिस और मौखिक कहकर जवाब भी मांगा गया लेकिन, उनकी तरफ से कोई संतोषजनक जवाब नही दिया गया।

रविवार को कॉंग्रेस के युवा नेता कहे जाने वाले और आरसीए कोषाध्यक्ष आजादसिह के कार्यालय पर उपखण्ड अधिकारी के नेतृत्व में कार्यवाही शुरू की गई। कार्यवाही मेें बाड़मेर क्लब परिसर में स्थित कार्यालय में रखे सामान की गिनती की गई और फर्द रिपोर्ट बनाई गई है।

उपखण्ड अधिकारी नीरज मिश्र का कहना है कि कूटरचित दस्तावेज बनाकर पीडब्लूडी की जमीन को आरोपित द्वारा हड़पे जाने की कोशिश की जा रही थी और जब 14 जून को बाड़मेर क्लब में स्वागत कार्यक्रम रखा गया था। उस दौरान प्रशासन ने रूकवाया था। वहीं प्रशासन द्वारा आज रविवार परिसर को सीज की कार्यवाही की गई है। सामान को लिस्ट बनाकर सीज कर दिया जायेगा और उनके द्वारा मांगे जाने पर सामान वापस दे दिया जायेगा।

वार्ता विफल

कार्यालय सीज की कार्यवाही की दौरान कोषाध्यक्ष आजादसिह के परिजनों द्वारा कलक्टर से मिलकर सीज की कार्यवाही रोकने और सामान ले जाने की बात सामने आई थी। जिस पर जिला कलक्टर शिवप्रसाद मदन नकाते, पुलिस अधीक्षक डाॅ. गगनदीप सिंगला और उनके परिजनों के बीच वार्ता हुई जो बेनतीजा रही। उसके बाद प्रशासन ने सीज कार्यवाही को जारी रखा।

कार्यवाही के दौरान रहे मौजूद

रविवार को सीज की कार्यवाही के दौरान उपखण्ड अधिकारी नीरज मिश्र, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, पुलिस उपाधीक्षक सुभाषचन्द्र खोजा, कोतवाली थाना अधिकारी सुरेन्द्र कुमार, सदर थानाधिकारी राजेन्द्र चौधरी, ग्रामीण थानाधिकारी किशनसिंह, आरआई, पटवारी सहित भारी संख्या में पुलिस जवान मौजूद थे।

क्या था पूरा मामला 

कांग्रेस के युवा नेता आजादसिंह के आरसीए कोषाध्यक्ष बनने के बाद पहली बार बाड़मेर पहुंचने पर बाड़मेर क्लब में रखे स्वागत कार्यक्रम को पुलिस और प्रशासन की ओर से रुकवाने के अगले दिन शुक्रवार को नेहरू युवा केंद्र के समन्वयक की ओर से कोतवाली थाने में आरसीए कोषाध्यक्ष व बाड़मेर क्लब सचिव समेत अन्य लोगो के खिलाफ शहर कोतवाली में मामला दर्ज हुआ है। पुलिस के मुताबिक नेहरू युवा केंद्र के समन्वयक ओम प्रकाश जोशी ने कोतवाली थाने में मामला दर्ज करवाया कि बाड़मेर क्लब सचिव राजूसिंह व आरसीए कोषाध्यक्ष आजादसिंह की ओर से भूखंड में धोखाधड़ी की गई। इस पर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। बाड़मेर क्लब कार्यकारिणी से जुड़े दस्तावेज व अन्य रिकोर्ड को खंगालना शुरू कर दिया। मामले मे पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए बाड़मेर क्लब सचिव राजूसिंह लेघा को गिरफ्तार कर लिया। सिवाना कौर्ट में पेश करने के बाद उनकी उम्र और बिमारी का हवाला देकर जमानत ली गई हैं. जिनकी पैरवी अधिवक्ता जसवंत बोहरा, लोकेश चौधरी, कपिल चौधरी, विजयसिंह ने की.

मामले मे शनिवार शाम को बाड़मेर कोतवाल सुरेन्द्र कुमार ने इस मामले की जानकारी देते हुए बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 467, 468, 471, 120बी, 3 पीडीपी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया हैं। जिसमे आजाद सिंह को फायदा पहुँचाने की नियत और उनके राजनीतिक आयोजनों के लिए क्लब का हिस्सा फर्जी तरीके से लीजडीड तत्कालीन रजिस्ट्रार कार्यालय के कार्मिको द्वारा जारी की गई थी. इस घटना के संबंध में बताते हुए उन्होंने कहा कि बाड़मेर जिला कलक्टर और एसपी इस संस्था में मानद पदाधिकारी होते हैं और उन्हें भी अँधेरे में रखकर कार्रवाई की गई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here