ख़ुदा के सजदे मे झुके हजारों सिर, मांगी अमनों-चैन की दुआएँ

64

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-जिलेभर में हर्षोउल्लास से मनाया ईदुल फितर का पर्व

-बाड़मेर का अपनत्व व भाईचारा बैमिशाल: सांसद चौधरी

-प्रशासनिक अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने गले-मिलकर दी ईद की मुबारकबाद

बाड़मेर- जिलेभर में ईदुल फितर यानि मीठी ईद का का त्यौहार मौमीन भाईयों व बहिनों ने हर्षोउल्लास व उमंग के साथ मनाया गया। इस अवसर पर स्थानीय गैंहॅू रोड़ स्थित ईदगाह में हजारों की तादात में मुस्लिम भाईयों ने शाही जामा मस्जिद के पेश इमाम मौलाना हाजी लाल मोहम्मद सिद्धिकी की इमामत में ठीक साढ़े आठ बजे ईदुल फितर की नमाज अदा की। बाद नमाज के खुदा की बारगाह में हजारों हाथ एक-साथ देश की खुशहाली, भाईचारा, अमनों-अमान व तरक्की के लिये उठे। वहीं इस अवसर पर गरीब, यतीम, असहायों की मदद के लिये खास दुआएं की गई। इस अवसर पर मुस्लिम इंतेजामिया कमेटी की ओर से स्नेह मिलन व कौमी एकता समारोह भी आयोजित किया गया।

अलसुबह ही आस-पास के ग्रामीण अंचलों सहित शहर के मुस्लिम भाईयों का इस्लामिक लिबास में छोटा हो या बड़ा बड़ी ही सिद्धत व अकीदत के साथ ईदगाह पहुॅचेे। पूरे रास्ते मे मौमीन भाई अपने दिलों में खुदा को याद कर कलमा शरीफ पढ़ते ईदगाह की ओर बढते हुयेे देखे जा रहे थे। देखते ही देखते हजारों की तादात में मौमीन भाई ईद की नमाज अदा करने ईदगाह के मैदान पहुंचे। ठीक साढ़े आज बजे पेश इमाम हाजी लाल मोहम्मद सिद्धिकी की इमामत में हजारों मौमीन भाईयों ने ईदुल फितर की नमाज अदा की। बाद नमाज के मौमीन भाईयों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मौमीन भाईयों ने एक-दूजे को गले-मिलकर, मुसाफा किया और ईद की मुबारकबाद पेश की।

ईदुल फितर की नमाज से पूर्व पेश इमाम हाजी लाल मोहम्मद सिद्धिकी ने मोमीन भाईयों को इस्लाम का स्वच्छता के प्रति संदेश देते हुये कहा कि इस्लाम साफ-सुथरा, पाक-साफ रहने वालों को बहुत पसंद करता है। रब फरमाता है मोमीनों का पाक-साफ रहना इमान का आधा हिस्सा है। सिद्धिकी ने मोमीनों भाईयों से समाज में व्याप्त कुरितियों को मिटाने का आह्वान करते हुये कहा कि शराब, जुआ, सुतखोरी, जिनाकारी, ताशबाजी, सट्टेबाजी करना इमान को कमजोर करता है। मोमीन भाईयों को इस तरह की कुरितियों को जड़ से खत्म कर नबी की राह इख्तियार करनी चाहिये। जो इंसान नबी की राह पर चलेगा वही दुनियां व आखिरत में कामयाब होगा। सिद्धिकी ने इल्म पर जोर देते हुये अपील की कि प्रत्येक बच्चों को दीनी व दुनियावाी तालिम देना इंसान का पहला कर्तव्य है। बिना ईल्म के समाज तरक्की नहीं कर सकता। इंसान को चाहिये कि वह प्रत्येक धर्म का सम्मान करते हुये किसी भी व्यक्ति का दिल ना दुखाये और ना ही धर्म अथवा मजहब पर कोई गलत टिप्पणी करे।

स्नेह मिलन व कौमी एकता समारोह आयोजित: मुस्लिम इंतेजामिया कमेेटी की ओर से बाद नमाज ईदुल फितर के कौमी एकता व स्नेह मिलन समारोह आयोजित किया गया। समारोह में बाड़मेर जैसलमेर सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी ने ईद की मुबारकबाद पेश करते हुये कहा कि वह कई जगह हिन्दु-मुस्लिम भाईयों के बीच रहे है तथा कई आयोजनों में शरीक हुये है। लेकिन बाड़मेर का अपनत्व, आपसी भाईचारा व साम्प्रदायिक सौहार्द्ध कहीं नहीं देखा।

मौमीन भाईयों को ईद की मुबारकबाद देते विधायक मेवाराम जैन

बाड़मेर के विधायक मेवाराम जैन ने कहा कि बाड़मेर की कौमी एकता व सामाजिक समरसता अनुठी और बेमिशाल है। एक-दूजे के त्यौहार का सम्मान करना यहां की परम्परा है। यही परम्परा हमें सर्वधर्म समभाव व इंसानियत के पैगाम की सीख देती है। नगर परिषद चैयरमेन लुणकरण बोथरा ने कहा कि यहां मुस्लिम समाज बेहद पिछड़ा हुआ है। मुस्लिम समाज को शिक्षा पर विशेष जोर देना होगा। युआईटी चैयरमेन प्रियंका चौधरी ने कहा कि ईद खुशियों और मिलन का त्यौहार है। माहे रमजान दुःखी, पीड़ित, असहाय व्यक्त्ति की मदद करने की सीख देता है।

अतिरिक्त जिला कलक्टर ओपी विश्नोई ने कहा कि मुस्लिम समाज को शिक्षा के क्षेत्र में आगे आने की जरूरत है। शिक्षा के जरिये ही समाज के बेहतर उत्थान की कल्पना की जा सकती है। आॅल इंडिया काॅमी एकता कमेटी के अध्यक्ष एडवोकेट धनराज जोशी ने कहा कि बाड़मेर जिला काॅमी एकता की मिशाल है। यहां के लोग एक-दुजे के धर्म में आस्था रखते हुये ईद और दिपावली की खुशियां साथ-साथ बांटते है। किन्तु अब कुछ हालात बदले है। नेताओं व जिम्मेदारों को आगे आकर यहां की कौमी एकता व साम्प्रदायिक सौहार्द्ध को अक्षुण बनायें रखने के लिये लगातार प्रयास करना चाहिये। इस अवसर पर भाजपा नगर अध्यक्ष मोहन कुर्डिया, समाजसेवी जगन्नाथ राठी, पूर्व नगर कांग्रेस अध्यक्ष नजीर मोहम्मद, सचिव अबरार मोहहम्मद, पूर्व सदर मोहम्मद मंजूर कुरेशी, आदिल भाई इत्यादि ने हिन्दु-मुस्लिम की भावना से परे राष्ट्र के प्रति प्रेम व इंसानियत की बात कही। कार्यक्रम का आभार कमेटी के सदर हाजी अब्दुल गनी खिलजी ने किया।

ये रहे मौजूद: इस अवसर पर मुस्लिम इंतेजामिया कमेटी के सदर हाजी अब्दुल गनी खिलजी, सचिव अबरार मोहम्मद, संयुक्त सचिव नायब सदर मोहम्मद रफीक कुरेशी, खजांची बच्चु खां कुम्हार, प्रचार मंत्री शाह मोहम्मद सिपाही, जाकीर नियारगर, मुख्तियार नियारगर, शाह मोहम्मद कोटवाल, हाजी गुलामनब्बी तेली, हारूण कोटवाल, हाजी दीन मोहम्मद, मास्टर रफीक कोटवाल, जाकिर हुसैन सिपाही, मुराद खां व्यापारी, हाजी मुख्तियार कुरेशी, सफी मोहम्मद सिपाही, युसुफ चढ़वा, फकीरा खां, जोगा खां, इकबाल मोहम्मद, रहमतुल्लाह, युसुफ लौहार, ईदरीश लौहार, आबीद तेली सहित कई मौमीन भाईयों ने शिरकत की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here