लोकप्रिय हो रही हमारी प्राचीन योग पद्धति में मेडिकल विज्ञान का हो जुडाव- चौधरी

50

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो

-योग दिवस के पूर्व प्रचार अभियान के तहत प्रचार कार्यक्रम आयोजित

बाडमेर- योग दिन-दूना, रात-चौगुना लोकप्रिय हो रहा है। इसके साथ हम लोग मेडीकल तकनीक शामिल कर ले तो इसका असर कुछ खास ही होगा। हमे यह ज्ञान होना चाहिये कि हमारे को कोनसी दिक्कत या बीमारी है। उससे निजात पाने के लिये कौनसे योग अथवा प्राणायम लाभप्रद है। योग की शुरूआत हमेशा प्रशिक्षित योग शिक्षक के सानिध्य में करनी चाहिये। हमारी प्राचीन योग पध्दति से आधुनिक विज्ञान की जुगलबंदी भी जरूरी है।

ये बात भारत सरकार के फील्ड आउटरीच ब्यूरो, नेहरू युवा केन्द्र जिला प्रशासन एंवम महिला एंवम विकास विभाग के संयुक्त तत्वाधान मे आगनवाडी केन्द्र रावतसर के प्रागण में आयोजित योग भगाये रोग विषयक विचार गोष्ठी को संबाधित करती सिणधरी ब्लाक की सीडीपीओ कुसुम चौधरी ने व्यक्त किये। चौधरी ने बताया कि यह सिध्द हो चुका है कि योग से अनेक बीमारियो से मुक्ति पायी जा सकती है। जिसके लिये जरूरी है नियमित एंवम सही योग के साथ शुध्द एंवम समय पर खान-पान जरूरी है।

इस अवसर पर फील्ड आउट रीच ब्यूरो के नरेन्द्र कुमार ने युवाओ को स्वच्छ भारत अभियान की विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुये कहा कि जहां स्वच्छता होती है वहां बीमारिया नजदीक नही आती है। हम सभी को मिलकर अपने गांव एंवम मोहल्ले को स्वच्छ ओर हरा भर बनाना है। उन्होने केन्द्र एंवम राज्य सरकार की फलेगशिप योजनाओ की विस्तृत जानकारी प्रदान की।

इस अवसर पर आगनवाडी कार्यकर्ता सुआदेवी एंवम आशा सहयोगनी मीरा चौधरी ने आने वाली 21 तारीख को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर अपनी-अपनी ग्राम पंचायतो में अधिक से अधिक महिलाओ को योग करने के लिये प्रेरित करने के साथ आगे भी वो लगातार योग करती रहे ऐसे प्रयासो को अमली जामा पहनाना है।

इस अवसर पर योग विषयक मोखिक प्रश्नोतरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें विजेता पांच प्रतिभागियो को फील्ड आउटरीच ब्यूरो द्वारा पुरस्कृत किया गया । तथा सभी को संकल्प दिलवाया गया एंव प्रचुर मात्रा में प्रचार सामग्री भी वितरित की गयी। कार्यक्रम को सफल बनाने में कन्हैयालाल का सहयोग रहा ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here