ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर करने लगे बहस, बच्चे की मौत, HC ने दिए जांच के आदेश

143

जोधपुर में एक सरकारी अस्पताल के ऑपरेशन थिएटर में गर्भवती महिला के सिजेरियन के दौरान दो डॉक्टर आपस में लड़ने लगे. डॉक्टरों के झगड़े के चलते महिला के ऑपरेशन में देरी हुई और उसके नवजात की मौत हो गई. इस झगड़े का एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें दोनों डॉक्टर लड़ते नजर रहे हैं. वीडियो वायरल होने के बाद राजस्थान हाईकोर्ट ने स्वतः संज्ञान लिया. हाईकोर्ट जस्टिस गोपाल कृष्ण व्यास की खंडपीठ ने उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति के उपसचिव धीरज शर्मा और पूर्णकालीन सचिव प्रेम रतन ओझा को इस पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए. वहीं हाईकोर्ट की दोबारा दो बजे मामले में सुनवाई शुरू हुई, जिसमें दोनों जांच अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट पेश की, जिस पर न्यायालय ने तुरंत प्रभाव से जोधपुर जिला कलेक्टर रवि सुरपुर को कोर्ट में पेश होने के आदेश दिए, जिस पर कलेक्टर सुरपुर एवं एडीएम सीमा कविया कोर्ट में पेश हुए. हाईकोर्ट जस्टिस गोपाल कृष्ण व्यास ने पूरे मामले में गंभीरता दिखाते हुए नाराजगी जाहिर की और पूछा कि यह क्या चल रहा है. इसके साथ ही जिला कलेक्टर को राज्य सरकार द्वारा बनाई गई जांच कमेटी में एक विधिक अधिकारी को भी शामिल करने के आदेश दिए. इसके अलावा कोर्ट ने एमएस सिंघवी को न्यायमित्र नियुक्त करते हुए आगामी चार सितंबर को पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए. अब इस मामले में आगामी 4 सिंतबर को सुनवाई होगी. बता दें कि शहर के उम्मेद अस्पताल के गायनिक डॉक्टर अशोक नैनीवाल और एनेस्थेटिक डॉक्टर एमएल टाक के इस झगड़े का एक वीडियो भी सामने आया है. इस वीडियो में दोनों डॉक्टर ऑपरेशन छोड़कर झगड़ते नजर आ रहे हैं. जब यह झगड़ा हो रहा था, वहां ऑपरेशन थिएटर की टेबल पर एक महिला बेहोश पड़ी थी. महिला को तत्काल सर्जरी की जरूरत थी, लेकिन डॉक्टर उसे नजरअंदाज कर आपस में झगड़ पड़े. डॉक्टरों के इस आपसी झगड़े के चलते महिला के ऑपरेशन में देरी हुई और नवजात ने जन्म के कुछ ही देर में दम तोड़ दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here