अवैध जल कनेक्शनों से सूखी ग्रामीणों की हलक

73

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-ग्रामीणों ने सौंपा जिला कलक्टर को ज्ञापन 

बाड़मेर- शहर के इलाकों सहित ग्रामीण आँचलों मे भीषण गर्मी के चलते पेयजल की किल्लत काफी बढ़ गई गई। पेयजल समस्या का मुख्य कारण यह है कि आमजन तक पानी नहीं पहुँच पा रहा है। क्योंकि बीच राह मे कई लोगों ने पाइपलाइन से पानी के अवैध कनेक्शन कर रखें हैं। जिसका खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। मामला बाड़मेर के सुजोणियों पुरोहितो की बस्ती का है। समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों ने हेमंत राजपुरोहित के नेतृत्व मे जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपकर जल आपूर्ति करवाने की मांग की है।

दरअसल, बाड़मेर शहर से महज 15 किलोमीटर दूर हरसाणी फान्टा से सुजोणियों पुरोहितो कि बस्ती (मुढो की ढाणी) जाने वाली पाईप लाईन में अवैध जल कनेक्शन की बहुतायत ने ग्रामीणों के हाल बेहाल कर रखे हैं। इससे सबसे ज्यादा दिक्कते मवेशियों के लिए बढ रही है जो पूरा दिन प्यास की वजह से इधर-उधर भटकते रहते है। ग्रामीणों की माने तो अपने लिए तो वो पैसा देकर 8-10 किलोमीटर दूर से पानी का प्रबंधन कर लेते हैं। लेकिन, पशुओं के लिए पानी का प्रबंधन किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है।

ग्रामीणों ने बताया कि जगह- जगह अवैध जल कनेक्शनऒ की भरमार की वजह से ग्रामीणों तक पानी पहुंच नही पाता है। उन्होने बताया कि इस संबंध मे बाड़मेर में कई बार अधिकारियों से मुखातिब होकर बात की। लेकिन, अधिकारी हर बार संसाधनों के अभाव और पुलिस जाब्ते की बात कहकर ग्रामीणों को टरका देते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि एक बार जलदाय विभाग द्वारा काफी कनेक्शन हटाये गए। लेकिन, मात्र 2-4 दिन में अवैध कनेक्शन वापिस हो गए। यहीं नहीं ग्रामीणो के अनुसार इस भीषण गर्मी मे पारा 50 डिग्री छूने को है। इस स्थिति में जल समस्या कोढ में खाज का काम कर रही हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि सरकार बार-बार बेहतर जल प्रबंधन की बातें करके खुद की पीठ थप थपा रही है। लेकिन, यहां के हालात इतने खराब है कि हर कोई सरकार के साथ जिम्मेदार अधिकारियों को कोसता नज़र आता है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here