बाड़मेर : राजकीय अस्पताल में मरीजों एवं उनके परिजनों ने किया हंगामा

52

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

-मरीजों एवं उनके परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर लगाया आरोप

बाड़मेर- जिला मुख्यालय पर स्थित राजकीय चिकित्सालय बाड़मेर में मरीजों एवं उनके परिजनों ने रविवार को हंगामा कर दिया। मरीजों एवं उनके परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर आरोप लगाए हुए कहा कि मरीजो के स्वास्थ्य में कोई सुधार ना होने के बावजूद भी यहां के चिकित्सकों ने उन्हें छुट्टी के कागज थमाते हुए अस्पताल से बाहर का रास्ता दिखा दिया। मौके पर कांग्रेस के कार्यकर्ता पहुंचे और मरीजों एवं उनके परिजनों को समझा बुझा कर निजी अस्पताल में उनके स्वास्थ्य की जांच करवाई और उन्हें संतुष्ट कर घर भेज दिया।

शनिवार को सड़क हादसे में हुए थे घायल

ग़ौरतलब है कि ये वही मरीज है जो शनिवार को सड़क हादसे का शिकार हुए थे। बताया जा रहा है कि वे कांग्रेस के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए धनोड़ा से बाड़मेर आ रहे थे। हादसे में 2 जनों की मौके पर ही मौत हो गई थी और दर्जन भर लोग घायल हो गए थे।

इनका कहना

-दूरभाष पर पीएमओ ने कहा कि ‘जिनकी हालत में सुधार है। केवल उन्हीं को छुट्टी दी गई है। बाकी फैक्चर है और जिनकी कंडीशन में कुछ सुधार नहीं हुआ है। उनका इलाज चल रहा है।’

बीएल मंसुरिया (पीएमओ, राजकीय चिकित्सालय बाड़मेर)

-राजकीय चिकित्सालय के चिकिसकों ने मरीजो को छुट्टी दे दी लेकिन, मरीज एवं उनके परिजन संतुष्ट नहीं थे। जिन्हें निजी चिकित्सालय ले जाया गया। जहां निजी चिकिसकों से स्वास्थ्य जांच के बाद मरीज व उनके परिजन संतुष्ट हो गए और स्वैच्छा से अपने घर लौट गए।

मेवाराम जैन (विधायक, बाड़मेर)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here