चौहटन पुलिसकर्मियों पर लगे गंभीर आरोप : करनी सेना सहित सैकड़ों लोगों ने एसपी को सौंपा ज्ञापन

83

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

बाड़मेर- जिले के चौहटन पुलिस के खिलाफ राजपूत करनी सेना सहित सर्व समाज के लोगों ने बाड़मेर एसपी को ज्ञापन सौंपकर बेवजह मारपीट करने व राजपूत करनी सेना के जिलाध्यक्ष विक्रमसिंह कापराऊ को चौहटन पुलिस थाना में कार्यरत कॉन्स्टेबल द्वारा धमकी देने के मामले में पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही करवाने की मांग की। इस दौरान उन्होने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी भी की।

क्या था मामला 

ज्ञापन में उन्होंने बताया कि 17 मई की शाम करीब 6 बजे उदयसिंह पुत्र गजेसिंह निवासी कापराऊ व रूपसिंह पुत्र देवीसिंह निवासी केकड़, कल्याणसिंह पुत्र खुमानसिंह निवासी भोजारिया तीनो बोलेरो में सवार चौहटन से कापराऊ जा रहे थे। इस दौरान हाई स्कूल ग्राउंड के पास स्कोर्पियो में सवार पुलिस वालों ने बोलेरो के आगे अपनी गाड़ी रोककर गाड़ी थाने में लाने को कहा। बोलेरो में सवार लोगों ने गाड़ी चौहटन थाना ले ली। जिसके बाद चौहटन पुलिस वालों ने बोलेरो से उतरे उदयसिंह वगैराह तीनों के साथ बैल्ट लात- घूसों से बेवजह मारपीट शुरू कर दी। वहीं बिना कोई कारण बताए पुलिसकर्मी बेहरहमी से उन्हें पीटते रहे। करनीसेना बाड़मेर के जिलाध्यक्ष ने बताया कि इस दौरान मैं पुलिस थाने पहुंचा तो थाने के अंदर से चिल्लाने की आवाजें आ रही थी। उन्होंने बताया कि जैसे ही मैने अंदर जामे की कोशिश की तो वहां तैनात संतरी सुभाष ने मुझे अंदर जाने से रोक दिया और गोली मारने की धमकी भी दी। रात्रि करीब 10 बजे तीनो को मारपीट कर अधमरा कर चौहटन पुलिस ने छोड़ा जब उनसे कारण पूछा गया तो, पुलिसकर्मियों ने कहा कि कारण कोर्ट में जाकर पूछना, हमे जो करना था हमने कर दिया। ज़्यादा बोले तो जैसलमेर में जिस तरह चुटरसिंह का एनकाउंटर किया था वैसा हाल तुम्हारा भी कर देंगे। ज्ञापन में उन्होंने एएसआई लाधुराम, मुंशी सांवलाराम, भरत कुमार, पदमा राम, सुभाष आदि पुलिसकर्मियों पर मारपीट करने का आरोप लगाया है।

ज्ञापन में उन्होंने बेवजह मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों व धमकी देने वाले कॉन्स्टेबल पर कार्यवाही की मांग की है। वहीं शीघ्र कार्यवाही ना करने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here