सावधान : अब डरना होगा पुलिस के डिजिटल हेलमेट से…पढ़ें ख़बर विस्तार से

135

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो

बाड़मेर- प्रदेश की पुलिस को हाईटेक बनाने के क्षेत्र में नए प्रयोग किए जा रहे हैं। अब कहीं भी लड़ाई-झगड़ा या उपद्रव होने पर अगर पुलिस बल आ गया तो हुड़दंग-पथराव करने वाले पुलिस की नजर से बच नहीं पाएंगे। किसी भी स्थान पर बलवा या हुड़दंग होने पर भीड़ बेकाबू हो जाती है। ऐसे में कई बार असली अपराधी पुलिस की नजर से बच जाते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। भीड़ में भी पुलिसकर्मियों का हेलमेट दंगाइयों को पहचान लेगा।
गत 2 अप्रेल के दंगे के बाद पुलिस मुख्यालय ने बाड़मेर सहित प्रदेशभर में पुलिसकर्मियों को कैमरे वाले हेलमेट दिए हैं। इन हेलमेट में हाईपावर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। दंगे के दौरान दंगाइयों की सारी करतूत अब इन सीसीटीवी कैमरों में कैद हो जाएगी। सूक्ष्म सीसीटीवी कैमरे वाले हेलमेट पहनकर ड्यूटी में तैनात जवान या अधिकारी पूरे घटनाक्रम कैद कर लेगा। शांति बहाली के बाद पुलिस फुटेज के आधार पर आसानी से आरोपियों की पहचान कर उनके विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर पाएगी।
बाड़मेर पुलिस लाईन ग्राउंड में जिला पुलिस अधीक्षक गगनदीप सिंगला की अगुवाई में आयोजित हुई बलवा परेड के दौरान सिंगला ने डिजिटल हेलमेट के बारे में जवानों को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह डिजिटल हेलमेट पुलिस के लिए काफी मददगार साबित होगा तथा धरना व विरोध प्रदर्शन के दौरान आपराधिक गतिविधियों पर अंकुश लगेगा।
उन्होंने बलवा परेड के दौरान कहा कि पुलिस को किसी भी परिस्थिति में मुकाबला करने के लिए तैयार रहना चाहिए।
पुलिस लाईन में आयोजित बलवा परेड में प्रदर्शनकारियो पर काबू पाने का शान्दार प्रदर्शन किया। इस दौरान पहली बार मिर्च बम का प्रयोग किया गया इसके प्रयोग से दंगाइयों को खदेड़ा जा सकता है। इसके अलावा लाठीचार्ज, अश्रुगैस सहित अन्य प्रदर्शन भी  किए गए।
ऐसा है डिजिटल हेलमेट
हेलमेट में लगे कैमरे हाई क्वालिटी के हैं। इनमें काफी दूर तक की पिक्चर बिल्कुल साफ आती है। खास बात ये भी है कि पुलिस इनसे रियल टाइम हालात भी देख सकेगी। अर्थात पुलिस अधिकारी चाहेंगे तो वे अपने मोबाइल, लैपटॉप आदि पर कार्यालय में बैठे-बैठे पूरे घटनाक्रम की लाइव स्थिति देख सकेंगे।
बाड़मेर पुलिस को मिले आठ डिजिटल हेलमेट
बाड़मेर में पुलिस को कैमरे लगे हेलमेट फिलहाल 8 मिले हैं। जल्द ही पुलिस को और हेलमेट भी मिलेंगे। जिनका उपयोग पुलिस दंगाइयों से निपटने के साथ-साथ चैकिंग व ट्रैफिक ड्यूटी आदि में भी करेगी। इससे झूठी शिकायतों पर अंकुश लगेगा। यदि कहीं पुलिसकर्मियों की गलती होगी, तो वे उसे छिपा नहीं सकेंगे।
-कैमरे लगे हेलमेट कानून व्यवस्था ड्यूटी के हिसाब से अच्छे हैं। जल्द ही इनका सामान्य ड्यूटी, चैकिंग एवं ट्रैफिक ड्यूटी में भी उपयोग लिया जाएगा। इससे भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। साथ ही पुलिस के खिलाफ झूठी शिकायतों पर भी रोक लगेगी।
-गगनदीप सिंगला, जिला पुलिस अधीक्षक बाड़मेर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here