भारत बंद के दौरान बाड़मेर में उपद्रव का मामला : दो दलित नेताओं को भेजा जेल

129

अशोक दईया 

बाड़मेर टाइम्स ब्यूरो 

बाड़मेर- बीते 2 अप्रैल को भारत बंद के दौरान बाड़मेर शहर में हुए उपद्रव के मामले में पुलिस द्वारा आरोपियों की धरपकड़ जारी है। वहीं पुलिस ने मंगलवार को दलित नेता लक्ष्मण बडेरा व उदाराम मेघवाल को गिरफ्तार किया। जिसके बाद आज बुधवार दोपहर करीब 2 बजे इन दलित नेताओं को पेश किया गया। जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया गया।

दलित नेताओं की पैरवी कर रहे अधिवक्ता करनाराम चौधरी ने बताया कि पुलिस द्वारा दलित नेताओं को पेश किया गया था। उन्होंने बताया कि दलित नेताओं के लिए जमानत का प्रार्थना पत्र पेश किया गया है। चूंकि, सेक्शन 307 और कुछ गंभीर अपराध है जिनमे जमानत होने की संभावना कम है। यहां से जमानत खारिज होने के बाद सेशन कोर्ट में जमानत अर्जी पेश करेंगे। पुलिस द्वारा रिमांड की मांग के सवाल पर उन्होंने बताया कि ‘पुलिस द्वारा कोई रिमांड की मांग नहीं की गई थी।’

इनकी अगुवाई मे था बाड़मेर बंद का आह्वान

गिरफ्तार किए गए दोनों दलित नेताओं की अगुवाई में बाड़मेर शहर में बन्द का आह्वान किया गया था। बन्द के दौरान हुए उपद्रव से शहर भर में अराजकता का माहौल बन गया था। बन्द के दौरान प्रदर्शनकारियों ने जबरन दुकानें बंद करवाई, आगजनी, पत्थरबाज़ी, पुलिस थाना कोतवाली पर हमला व कई जगह तोडफ़ोड़ की घटनाओं को अंजाम दिया था। उपद्रव के मामले में शहर के कोतवाली थाने में 6 प्रकरण दर्ज हुए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here