जालौर के गांवों में खुले आसमान तले मदद के राशन पर जिंदा है ग्रामीण

146

जालौर | जालौर के नेहड़ क्षैत्र में बीस दिनों बाद भी बाढ़ के हालात बने हुए हैं। सेसावा, खेजड़ीयाली, पावटा, सिलोसन, होथीगांव, दूठवा, डावल, सहित दर्जनों गांव पीछले 20 दिनों से पूरी तरह जलमग्न हैं। कई जगह लोग अभी भी टापू पर रह रहे हैं वही कई जगह लोग खुले आसमान तले धोरो पर रहने को मजबूर हैं। पानी का भराव गांवो में होने से आवागमन पूरी तरह ठप हो चुका हैं| वही भामाशाहो की मदद से मिल रहे राशन सामग्री पर परिवार अपना बड़ी मुश्किल से गुजारा कर रहे हैं। नेहड़ क्षैत्र से पानी की निकासी नहीं होने से बीस दिनों से हाल बद् से बदतर हो गये हैं पानी के भराव से मौसमी बिमारियां फैल रही हैं| वही मच्छरों से परेशान लोग रात में सो नही पा रहे| प्रशासन सहित चिकित्सा विभाग अपने स्तर पर कोशिश कर रहे है| बाढ के जमा पानी मे मच्छरो को फैलने से रोकने के लिए दवाई छिडकाव ,फोगिंग सहित एंटी लार्वा एक्टीविटी करवाइ जा रही है पर कइ गांव अभी भी प्रशासन से पहुच से बाहर है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here