मोदी क्या नीतीश से बदला ले रहे हैं?

138

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्या बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बदला ले रहे हैं? नीतीश कुमार ने एनडीए में रहते नरेंद्र मोदी का खुल कर विरोध किया। वे उनको बिहार नहीं आने देना चाहते थे और यह भी नहीं चाहते थे कि बिहार भाजपा के नेता मोदी का गुणगान करेंगे। उस समय बिहार भाजपा के सिर्फ दो ही नेता मोदी का गुणगान करते थे। एक गिरिराज सिंह और दूसरे अश्विनी कुमार चौबे। ये दोनों खुल कर नीतीश का विरोध भी करते थे। मोदी ने गिरिराज सिंह को पहले मंत्री बना दिया था और अश्विनी चौबे को इस बार मंत्री बना दिया। माना जा रहा है कि यह नीतीश को एक मैसेज है। इससे पहले 26 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी बिहार में बाढ़ का हवाई सर्वेक्षण करने गए थे। उस समय नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री मोदी के लिए लंच की व्यवस्था की थी। लेकिन मोदी उनके साथ लंच करने नहीं गए। इस घटना का ज्यादा नोटिस नहीं लिया गया। लेकिन पूर्व उप मुख्यमंत्री और बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इसे मुद्दा बनाया। उन्होंने ट्विट करके कहा कि मोदी ने नीतीश से 2010 की घटना का बदला लिया है। गौरतलब है कि 2010 में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पटना में हुई थी। उस समय नीतीश कुमार ने अपनी सहयोगी भाजपा के नेताओं को खाने पर बुलाया था। लेकिन जिस दिन का न्योता था, उसी दिन एक अखबार में विज्ञापन के रूप में मोदी के साथ उनकी एक पुरानी फोटो छप गई। इससे नीतीश इतने नाराज हुए कि उन्होंने भोज कैंसिल कर दिया था। तेजस्वी का कहना है कि इस बार मोदी ने उसका बदला लिया। इस बीच यह चर्चा भी शुरू हो गई कि जदयू के एनडीए में फिर से शामिल हो जाने के बाद भी मोदी ने पार्टी को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया। जदयू के दो मंत्री बनेंगे, इसकी चर्चा कई दिन से हो रही थी। नाम भी तय बताए जा रहे थे। लेकिन ऐन मौके पर नीतीश कुमार ने कहा कि इस बारे में भाजपा से उनकी बात नहीं हुई है। कहा जा रहा है कि पार्टी में चल रहे झगड़े की वजह से मोदी और अमित शाह ने जदूय को दूर रखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here