चुनाव वाले राज्यों का ध्यान नहीं!

141

नरेंद्र मोदी सरकार की तीसरी फेरबदल के बारे में माना जा रहा था कि यह अगले कुछ दिन में होने वाले चुनावों और 2019 के लोकसभा को ध्यान में रख कर किया जाएगा। लेकिन ऐसा लग रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस ओर खास ध्यान नहीं दिया है। और इस वजह से मीडिया की अटकलें एक बार फिर पूरी तरह से गलत साबित हुई हैं। राजीव प्रताप रूड़ी का इस्तीफा होने के बाद मीडिया में नामों का अटकलें चुनाव वाले राज्यों को ध्यान में रख कर लगाई जा रही थीं। माना जा रहा था कि मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में अगले साल चुनाव होने वाले हैं तो वहां से ज्यादा मंत्री बनेंगे। लेकिन प्रधानमंत्री ने मध्य प्रदेश और राजस्थान से एक एक मंत्री बनाए। मध्य प्रदेश से वीरेंद्र कुमार और राजस्थान से गजेंद्र सिंह शेखावत मंत्री बने। पहले कहा जा रहा था कि मध्य प्रदेश से तीन मंत्री बन सकते हैं। इसी तरह यह भी कहा जा रहा था कि कर्नाटक में अगले साल होने वाले चुनाव को ध्यान में रख कर तीन मंत्री बनाए जा सकते हैं। सुरेश अंगदी, प्रहलाद जोशी और शोभा करंदलाजे के नाम की चर्चा चल रही थी। लेकिन तीन की बजाय सिर्फ एक मंत्री बनाया गया वह भी उत्तरी कर्नाटक के सांसद अनंत हेगड़े को। हिमाचल प्रदेश में इस साल के अंत में चुनाव होने वाला है और चर्चा थी कि वहां से एक मंत्री बनाया जाएगा। बताया जा रहा था कि भाजपा जेपी नड्डा को वहां प्रोजेक्ट करना चाहती है इसलिए प्रेम कुमार धूमल के बेटे अनुराग ठाकुर को मंत्री बनाया जा सकता है। लेकिन यह कयास भी गलत साबित हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here