मोदी मंत्रिमंडल में विस्तार से पहले एनडीए में खटपट!

145

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार सुबह अपने मंत्रिमंडल में फेरबदल करेंगे। रविवार सुबह 10.30 बजे मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा और उसका विस्तार किया जाएगा। लेकिन, मंत्रिमंडल में विस्तार से पहले एनडीए में खटपट की खबरें सामने आ रही है। एक तरफ जेडीयू ने साफ कर दिया है कि अभी उन्हें मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कोई न्योता नहीं मिला है। वहीं, दूसरी ओर शिवसेना ने भी कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार की खबरें हमें मीडिया से मिली है। ऐसे में यह तो साफ हो गया है कि मंत्रिमंडल विस्तार से पहले एनडीए में खींचतान का दौर जारी है। जेडीयू की ओर से कहा गया कि उन्हें मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर कोई न्योता नहीं मिला है। खास बात यह है कि अभी तक जेडीयू के दो सांसदों का मंत्री बनना तय माना जा रहा था। लेकिन, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू को अभी मोदी मंत्रिमंडल में शामिल होने का प्रस्ताव नहीं मिला है। मंत्रिमंडल में एनडीए के नए सहयोगियों के शामिल होने की उम्मीद है। मंत्रिमंडल विस्तार में जेडीयू कोटे से दो मंत्रियों को जगह मिलने वाली थी। रूडी की जगह जेडीयू के वशिष्ठ नारायण सिंह और आरसीपी सिंह में से किसी एक को मंत्री बनाया जा सकता है। इधर, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का कहना है कि उन्हें कैबिनेट में फेरबदल की जानकारी मीडिया से मिल रही है। ठाकरे ने कहा कि हर व्यक्ति इस बात की चिंता करता है कि केंद्र में क्या होगा, लेकिन उन्हें मुंबई की चिंता है। शिवसेना बीजेपी से नाराज चल रही है। लोकसभा में शिवसेना के 18 सांसद हैं। सूत्रों के मुताबिक, उद्धव चाहते हैं कि मोदी कैबिनेट विस्तार में शिवसेना कोटे से कम से कम 3 सांसदों को जगह मिले। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अगर ऐसा नहीं होता तो वो चाहते हैं कि फिर महाराष्ट्र में गृह मंत्रालय ही दे दिया जाये, जो फिलहाल मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के पास है। हालांकि, बीजेपी के सूत्रों की मानें तो शिवसेना को एक मंत्री पद ही और मिल सकता है, इससे ज्यादा मिलने की उम्मीद कम है। फिलहाल, मोदी सरकार में शिवसेना कोटे से एकमात्र कैबिनेट मंत्री अनंत गीते हैं। इस बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की है। माना जा रहा है कि दोनों नेताओं ने कैबिनेट में फेरबदल को लेकर फैसला कर लिया है। सूत्रों के अनुसार, इस समय दो बड़े मंत्रालय (वित्त और रक्षा) संभाल रहे अरुण जेटली के पास संभवत: अब एक ही मंत्रालय रह जाए। नितिन गडकरी सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री हैं। उन्हें अधिक जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। रविवार को राष्ट्रपति भवन में सुबह 10 बजे पीएम नरेंद्र मोदी की नई टीम सामने आएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here